• आरोपियों के द्वारा गरीब व्यक्तियो के लिए शासन से प्राप्त होने वाले गेहूं, चावल,बाजरा को अधिक दामों पर व्यापारियों को बिक्री कर किया जा रहा था अवैध लाभ अर्जित।
  • शासकिय उचित मूल्य की दुकान में भंडारित 22 क्विंटल गेहूं को नवलक्खा स्थित व्यापारी को बेचकर, व्यापारी द्वारा उक्त अनाज को नई पैकिंग शरबती गेहूं बताकर  ऊंचे दामों पर बेचा जा रहा था बाजार में।
  • आरोपी के गोडाउन से लाखो रुपए कीमत के गेहूं,चावल के 400 से अधिक कट्टे अनाज एवं 3 ऑटो रिक्शा बरामद।

इंदौर -दिनांक 22 सितंबर 2022- शहर में राशन माफियो पर अंकुश लगाने एवं इनमें संलिप्त बदमाशों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही के लिए श्रीमान पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर श्री हरिनारायणचारी मिश्र द्वारा इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया है। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में श्रीमान अति. पुलिस आयुक्त (अपराध) श्री राजेश हिंगणकर के मार्गदर्शन में पुलिस उपायुक्त (क्राईम ब्रांच) इंदौर श्री निमिष अग्रवाल एवं अपर कलेक्टर  श्री अभय बेडेकर जिला इंदौर व अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त श्री गुरू प्रसाद पाराशर द्वारा शहर में चल रहे राशन की दुकानों से राशन का अवैध रूप से क्रय विक्रय करने वाले आरोपियों की धरपकड़ करने हेतु इंदौर क्राईम ब्रांच व प्रशासन की टीमों को को निर्देशित किया गया था।

   इसी कड़ी में कार्यवाही के दौरान क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ लोग महारानी रोड स्थित राशन की दुकान का अनाज सस्ते में खरीद कर बाजार में ऊंचे दामों पर बेचने का कार्य कर रहे है। उक्त सूचना पर क्राइम ब्रांच टीम के साथ अपर कलेक्टर श्री अभय बेडेकर के निर्देशन में खाद्य विभाग कि टीम को साथ मे लेकर उक्त स्थान पर कार्यवाही करते सेंट्रल कोतवाली क्षेत्र की शासकीय उचित मूल्य की दुकान के हितेश के द्वारा संचालित दुकान पर कार्यवाही करते पाया की आरोपी के द्वारा शासन से गरीबों के लिए प्राप्त होने वाले 22 क्विंटल गेहूं को अवैध लाभ अर्जित करने की नियत से सस्ते दामों पर  नवलखा कंपाउंड के सामने स्थित गोडाउन जिसको किराए पर लेकर संचालनकर्ता आरोपी (2).मयंक सिंघल को बेचा गया है ।

      आरोपी मयंक के द्वारा संचालित नवलखा स्थित गोडाउन निरीक्षण करने पर पाया कि वहां आरोपी मयंक सिंघल के द्वारा सेंट्रल कोतवाली क्षेत्र की शासकीय उचित मूल्य की दुकान से ऑटो रिक्शा में अनाज मंगवाकर उक्त अनाज की गोदाम में नई पैकिंग कर बाजार में बेचने का कार्य किया जा रहा था।

      नवलखा के सामने गोदाम की निरीक्षण करने एवं आरोपी मयंक से पूछताछ करने पर इंदौर शहर के अन्य कई शासकीय उचित मूल्य की दुकानों से प्राप्त 400 कट्टे गेहूं व चावल  जिनकी कीमत लाखो रुपए की होकर गोदाम में मिले, जिसे इसी तरह सस्ते दामों पर खरीदकर उन्हें नए ब्रांड की पैकिंग कर अधिक कीमत में बाजार में बेचने का कार्य करना कबूला।

      खाद्य विभाग की द्वारा उक्त सामग्री की जांच कर नियमानुसार अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।