• पुलिस ने छोटी बस्तियों एवं कालोनियों में पहुंच, नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भी किया, लोगों को नशे के दुष्परिणामों एवं मानव दुर्व्यापार के प्रति जागरूक।
  • गरबा पांडालों में भी पहुंचकर दिया, सभी को सतर्क रहकर, अपने बच्चों एवं लड़कियों को नशें से एवं मानव तस्करी के अपराधियों से दूर रहने का संदेश।
  • नशा मुक्त अभियान के तहत सभी ने ली नशे से दूर रहने की भी शपथ।

इन्दौर दिनांक 03 अक्टूबर  2022 –  नशे के दुपरिणाम के बारे में जागकता लाने एवं नशे की लत से लोगों को दूर करने के उद्देश्य से म.प्र. शासन द्वारा महात्मा गांधी जी जयंती के अवसर पर उनके नशा मुक्त समाज के निर्माण के विचारों को आत्मसात करते हुए प्रदेश व्यापी नशा मुक्ति अभियान का शुभांरभ किया गया है।  जिसके तारतम्य में पुलिस आयुक्त नगरीय इन्दौर श्री हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देशन मे अति. पुलिस आयुक्त (अपराध एवं मुख्यालय) इंदौर श्री राजेश हिंगणकर एवं अति. पुलिस आयुक्त (लॉ एंड ऑर्डर) इंदौर श्री मनीष कपूरिया के मार्गदर्शन में इन्दौर पुलिस द्वारा नशें के विरूद्ध शुरू किये गये इस महाअभियान की शुरूआत नशे के प्रति जागरूकता यात्रा के साथ करते हुए, लोगों के बीच जाकर नुक्कड़ नाटक, उनसे परिसंवाद स्थापित कर व विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें नशे के दुष्परिणाम एवं इनसे दूर रहने के संबंध में जन जागरूकता लाने का प्रयास किया जा रहा है।

      नशे के प्रति जनजागरूकता यात्रा में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) श्रीमती मनीाा पाठक सोनी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नारकोटिक्स इंदौर सुश्री हेमलता अग्रवाल, उप पुलिस अधीक्षक नारकोटिक्स श्री संतोष हाड़ा, निरीक्षक श्रीमती राधा जामोद, उपनिरीक्षक श्री शिवम ठक्कर सहित पुलिस कंट्रोल रूम इंदौर के रिजर्व बल, नारकोटिक्स पुलिस की टीम, एनसीसी कैडेट्स, जिला खेल एवं युवा कल्याण विभाग के पदाधिकारीगण एवं नेहरू युवा केंद्र के सदस्यों विभिन्न सामाजिक संगठनों के सदस्यों, विघार्थियों ने पलासिया चौराहे से शुरुआत करते हुए पत्रकार चौराहा, साकेत चौराहा से गिटार तिराहा होते हुए नारकोटिक्स विंग्स पलसिया पर समापन किया गया। इस अवसर पर सभी ने नशा मुक्त भारत अभियान के तहत हमेशा नशे से दूर रहने की शपथ भी ली गई।

      इसी कड़ी में कल शाम को एक अन्य कार्यक्रम में डॉक्टर अंबेडकर युवा समिति इंदौर के सहयोग से बुद्ध नगर में इंदौर पुलिस व नारकोटिक्स विंग द्वारा नशा मुक्ति अभियान एवं चेतना अभियान के तहत एक नुक्कड़ नाटक का आयोजन अनवरत थिएटर ग्रुप इंदौर के कलाकारों द्वारा किया गया। इंदौर पुलिस की ओर से निरीक्षक श्रीमती राधा जामोद, उपनिरीक्षक शिवम ठक्कर, सउनि गयेंद्र यादव एवं नारकोटिक्स विंग से उप निरीक्षक आरती कटियार ने उपस्थित जनसमुदाय को दोनों अभियानों के बारे में संक्षेप ने जानकारी दी। और वहां पर उपस्थित सभी लोगों के साथ विशेषकर युवा वर्ग को नशें के दुष्प्रभावों के संबंध में विस्तार से बताते हुए कहा कि, आप अपने परिवार, समाज एवं देश के उज्जवल भविष्य हों, अतः किसी भी प्रकार के नशे में न आएं क्योंकि नशा अपने साथ साथ अपने परिवार को भी बर्बाद कर देता है। अंत में उपनिरीक्षक शिवम ठक्कर द्वारा सभी को पुलिस व चाइल्ड लाइन के हेल्पलाइन नंबरों के बारे में रोचक तरीके से बताया एवं बच्चों को याद भी करवाएं। सभी को इस अभियान के ध्येय वाक्य नशे को कहें ना और जीवन को कहे हां के संकल्प को अपनाने की समझाईश दी गयी। समिति की ओर से श्री मुरलीधर राहुल मेटांगे के द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया।

      इसके बाद पुलिस की उक्त टीम रात्रि में सिलिकान सिटी के गरबा पांडल में पहुंची और वहां पर सभी को नशे के दुपरिणाम के बारे में बताते हुए बताया कि नशा किस प्रकार हमारे शरीर के साथ ही हमारे मानसिक, आर्थिक एवं पारिवारिक जीवन को खराब कर देता है इसलिए इस से हमेशा दूर रहने व इससे बचने के उपाय भी बताए। सभी को चेतना अभियान की जानकारी देते हुए छोटे बच्चें एवं लड़कियों का विशेषकर ध्यान रखने की सलाह दी गयी क्योकि हम जागरूक व सतर्क रहकर, मानव दुर्व्यापार के अपराधों से बच सकते है। इसके साथ ही सभी को पुलिस हेल्पलाइन व चाइल्ड हेल्पलाइन के पम्पलेट्स भी वितरित किये गये।