मनोरंजक शिक्षण सामग्री एवं खिलौनों से लैस मोबाइल वैन, अब पहुंचेगी वंचित वर्ग के बच्चों के बीच।

इंदौर – दिनांक 20 सितंबर 2022- वंचित वर्गो के बच्चों को जीवन उपयोगी शिक्षा एवं उन्हें खेल खेल में शिक्षा के प्रति लगाव एवं स्कूलिंग से जोड़ने के उद्देश्य से इंदौर शहर को बालमित्र बनाने की दिशा में एक अभिनव पहल करते हुए, इंदौर पुलिस के तत्वाधान में, चाइल्ड लाइन व अशासकीय संस्था आस द्वारा मस्ती की पाठशाला नामक एक चलित पुस्तकालय का लोकार्पण किया गया। श्रीमान पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर श्री हरिनारायणचारी मिश्र एवं अति. पुलिस आयुक्त (अपराध/मुख्यालय) इंदौर श्री राजेश हिंगणकर के निर्देशन में पुलिस उपायुक्त (अपराध/मुख्यालय) श्री निमिष अग्रवाल के मार्गदर्शन में आज दिनांक 20.09.2022 को पुलिस कंट्रोल रुम पलासिया में आयोजित उक्त कार्यक्रम में अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय श्रीमती मनीषा पाठक सोनी द्वारा हरी झंडी दिखाकर, उक्त चलित पुस्तकालय मोबाइल वैन की शुरूआत की गयी। 

                यह मोबाइल वैन (होप) आस ऑन व्हील्स, एक चलती हुई मस्ती की पाठशाला के रूप में जानी जायेगी। यह वैन एसीजी (एडवांस कैप्स्यूल गु्रप) केयर फाउंडेशन द्वारा संस्था आस को प्रदान की गई है। यह वैन में बच्चों के लिये मनोरंजक व ज्ञानवर्धक गतिविधियों की शिक्षण सामग्री, खिलौने, पेटिग्स आदि से सुसज्जित है, जो चाइल्ड लाइन के साथ संस्था आस द्वारा पूरे शहर में चलाकर, शहर की स्लम बस्तियों, समाज के वंचित तबके के बीच जाकर, उनके बच्चों को मनोरंजक गतिविधियों के माध्यम से शिक्षित करने व उनकी सुरक्षा एवं उन्हें समाज की मुख्य धारा में जोड़ने के लिये एक चलित स्कूल के रूप में मस्ती की पाठशाला की तरह कार्य करने का प्रयास करेगी।

                इस मस्ती की पाठशाला के लिए मोबाइल वैन प्रदान करने वाली एसीजी कंपनी के सुनील जी व विनीत जी ने उनकी कंपनी एवं एसीजी केयर फाउंडेशन के कार्यों के बारे में बताया कि वे किस तरह से भारत भर में समाज कल्याण के क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं एवं इसके साथ साथ उनके द्वारा यह भी कहा गया कि जो बच्चे स्पोर्ट्स में भाग लेना चाहते है, उनके सहयोग के लिये भी हर समय तत्पर है कहा।

                संस्था आस की ओर से श्री वसीम इकबाल द्वारा बताया गया कि कैसे यह मोबाइल वेन इंदौर शहर में कार्य करेगी, जिसके तहत यह वेन पूरे शहर में चलाई जाएगी जो मनोरंजक गतिविधियों के माध्यम से वंचित वर्गों के बच्चों के साथ तालमेल बनाने के लिए,  असुरक्षित स्थानों से बच्चों को बचाने और उन्हें आश्रय ग्रहों तक पहुंचाने तथा एक मोबाइल स्कूल के माध्यम से इन छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के लिए कार्य करेगी।

                श्रीमती मनीषा पाठक सोनी द्वारा बच्चों को बाल सुरक्षा के बारे में जानकारी दी गई एवं उन्हें पुलिस की कार्यप्रणाली एवं विभिन्न कार्यों के बारे में बताया गया और साथ ही पुलिस अधिकारियों के द्वारा बच्चों को पुलिस कंट्रोल रूम में घुमाया गया व उन्हें बताया कि पुलिस किस तरह से कार्य करती है। बच्चों के द्वारा भी इस दौरान तरह तरह के प्रश्न पूछे गए जैसे यदि उन्हें पुलिस बनना है तो उन्हें क्या करना पड़ेगा, पुलिस बनने के लिया कितनी पढ़ाई करना पड़ती है, पुलिस बच्चों की मदद किस तरह करती है आदि- आदि। जिस पर पुलिस अधिकारियों द्वारा बड़े ही रोचक अंदाज में उनके प्रश्नों का जवाब दे,बच्चों की जिज्ञासाओं को शांत किया।

इस अवसर पर अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय मनीषा पाठक सोनी, सहायक पुलिस आयुक्त (रेडियों) श्री सुभाष सिंह, एसीजी केयर फाउंडेशन की ओर से श्री सुनील जी, श्री विनीत देवात्रा जी, चाइल्ड लाइन व संस्था आस से श्री वसीम इकबाल, श्री जितेन्द्र परमार, श्री राहुल गोथाने, सुश्री मनीषा पायक, सुश्री मिस्बाह, पुलिस उपायुक्त मुख्यालय कार्यालय से निरीक्षक श्रीमती राधा जामोद, उप निरीक्षक श्री शिवम ठक्कर, सउनि श्री गयेन्द्र यादव व अन्य पुलिस कर्मियों सहित संस्था आस व चाइल्ड लाइन की ट्रैनिंग पाठशाला व विभिन्न कम्युनिटी के बच्चे शामिल हुए।